Total Pageviews

Tuesday, February 15, 2011

हर गली में मुमताज़ बनाते रहिये......


                                                        ताज और मुमताज
सफ़र लम्बा है दोस्त बनाते रहिये...
दिल मिले-ना-मिले, हाथ बढ़ाते रहिये....
ताजमहल बनाना बहुत महंगा  (costly) पड़ेगा...
इसलिए हर गली में मुमताज़ बनाते रहिये......


No comments:

Post a Comment